कभी-कभी आपको विश्वास करना पड़ता है कि आप हमेशा नहीं जीतते।

परिचय

लियोनेल मेसी एक प्रसिद्ध फुटबॉल खिलाड़ी हैं। वह वर्तमान में ला लीगा टीम बार्सिलोना और अर्जेंटीना के लिए खेल रहे हैं और उन्हें सबसे सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलरों में से एक माना जाता है। उनका जन्म 24 जून 1987 को हुआ था। प्रारंभिक जीवन लियोनेल मेस्सी का जन्म अर्जेंटीना के रोसारियो में पिता जॉर्ज मेस्सी और माता सेलिया क्यूकिटिनी के घर हुआ था। उसके पिता एक कारखाने के कर्मचारी थे और उसकी माँ एक cleaner थी। उनके दो भाई, रोड्रिगो और मेस्सी की एक बहन सियोल भी है। पांच साल की उम्र में मेस्सी ने एक स्थानीय क्लब ग्रैंडोली के लिए फुटबॉल खेलना शुरू किया, जहां उनके पिता जॉर्ज मेस्सी प्रशिक्षण ले रहे थे। 1995 में, मेस्सी ने अपने गृहनगर रोसारियो में नेवेल ओल्ड बॉयज़ क्लब के लिए खेलना शुरू किया। क्लब के सभी खिलाड़ी प्रतिभाशाली थे, जिसने क्लब को सभी के बीच एक अच्छा प्रभाव बनाया। तो मेसी भी कम उम्र में ही प्रभाव छोड़ने में कामयाब रहे। लेकिन 11 साल की उम्र में वह अपनी उम्र के अन्य खिलाड़ियों और दोस्तों से छोटे थे। क्युकी उसके शरीर में फिजिकल ग्रोथ हार्मोन की कमी पाई गई।

खेल यात्रा

शारीरिक विकास में कमी के कारण लियोनेल मेसी ने स्थानीय क्लबों को लेना बंद कर दिया। लोगों को लगा कि उनका खेल करियर खत्म हो गया है। मेसी के लिए यह खेल सिर्फ एक सपना था और उनके पिता भी यही चाहते थे। मेस्सी की समस्या का इलाज किया जा सकता था, लेकिन यह उनके परिवार के लिए बहुत महंगा था। उसके इलाज पर प्रति माह नौ सौ अमेरिकी डॉलर खर्च हुए।प्राइमरी डिवीजन क्लब रिवर प्लेट ने मेस्सी के इलाज में दिलचस्पी दिखाई लेकिन क्लब के पास उनके इलाज के लिए पर्याप्त पैसे नहीं थे।

और कुछ दिने बाद मेसी के एक रिश्तेदारों ने बार्सिलोना के खेल प्रबंधक कार्लोस रिक्सैक को उनकी प्रतिभा के बारे में बताया और उनके परीक्षण की व्यवस्था की। अपने खेल का परीक्षण करने के बाद, बार्सिलोना अपने इलाज के लिए भुगतान करने के लिए सहमत हो गया । उसके बाद मेसी का परिवार यूरोप चला गया और बार्सिलोना की युवा टीम के लिए मेस्सी ने खेलने सुरु करा।

मेस्सी का खेल करियर 2000 में शुरू हुआ जब वह जूनियर सिस्टम रैंकिंग के लिए खेले। वह कम समय में पांच टीमों के लिए खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी बन गए। उन्होंने 16 नवंबर 2003 को पोर्टो के खिलाफ एक friendly मैच में 16 साल की उम्र से उसका Official खेल सुरु हुवा । फ्रैंक रिजकार्ड ने उन्हें खेल में अच्छा प्रदर्शन करते देखा और उन्हें एस्पेनयोलो के खिलाफ खेल खेलने के मौका दिया। उस समय मेसी 17 साल के थे। और, उन्होंने उस खेल में अपनी जादुई प्रतिभा दिखाई। वह बार्सिलोना के लिए ला लीगा खेल में गोल करने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए। मेस्सी का पहला घरेलू खेल यूईएफए चैंपियंस लीग में italian क्लब उडिनीस के खिलाफ था।

मेस्सी और रोनाल्डिन्हो के संयोजन ने बार्सिलोना को अच्छी स्थिति में ला दिया इसीलिए बार्सिलोना के कैंप नोउ स्टेडियम में प्रशंसकों ने खड़े होकर तालियां बजाईं। अर्जेंटीना मेस्सी का पहला गेम जून 2004 में पैराग्वे के खिलाफ अंडर -20 दोस्ताना मैच में आया था। उन्होंने अपना पहला पूर्ण अंतरराष्ट्रीय मैच १८ साल की उम्र में १७ अगस्त २००५ को हंगरी के खिलाफ खेला था। लेकिन रेफरी ने एक अन्य खिलाड़ी को सिर पर मारने के लिए तुरंत खेल से बाहर कर दिया। विश्व कप क्वालीफायर में पराग्वे से 1-0 से हारने के बाद मेसी ने टीम में वापस आया था।

२००५-०६ के सीज़न में, मेस्सी ने छह गोल किए, जिसमें सीज़न लीग खेलों में एक चैंपियंस लीग गोल भी शामिल था। 2006 चैंपियंस लीग टाईदूसरे चरण में चेल्सी के खिलाफ खेलते हुए दाहिनी जांघ में फ्रैक्चर के कारण उनका सीज़न समय से पहले समाप्त हो गया।

नवंबर 2006 में रियल ज़ारागोज़ा के खिलाफ मैच के दौरान मेस्सी के पेर फ्रैक्चर हो गया, जिसने उन्हें तीन महीने के लिए खेल से बाहर हो गया । २००६-०७ के सीज़न में, उन्होंने खुद को समूह में एक नियमित अग्रणी खिलाड़ी के रूप में स्थापित करने के लिए ६ खेलों में १४ गोल किया । मेस्सी ने इस सीजन की शुरुआत में रियल मैड्रिड के खिलाफ खेल में हैट्रिक बनाई, जिसमें उन्होंने इंजरी टाइम में अपना तीसरा गोल किया था । मेस्सी उस खेल में स्कोर करने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने, इवान ज़मोरा के बाद एल क्लासिक्सिको में लगातार तीन गोल करने वाले पहले खिलाड़ी भी हो गया।

मेस्सी ने 2007-08 सीज़न के दौरान बार्सिलोना को ला लीगा के शीर्ष चार में पहुँचाया, और एक सप्ताह में पाँच गोल किए। उन्होंने उस सीज़न में यूईएफए क्लब फ़ुटबॉलर ऑफ़ द ईयर का पुरस्कार जीता। 2009 से 2016 बार्सिलोना के साथ € 2.5 मिलियन के नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करने के बाद मेस्सी ला लीगा में सबसे अधिक भुगतान पाने वाले खिलाड़ी बन गए।

मेस्सी, जिन्हें चोटिल होने के बावजूद 2006 विश्व कप के लिए चुना गया था, ने हर्न गोलन क्रेस्पो को अपनी प्रविष्टि के कुछ ही मिनटों में गोल करने में मदद की और 6-0 की जीत में अंतिम गोल किया, जिससे वह प्रतियोगिता में सबसे कम उम्र के स्कोरर और छठे सबसे युवा खिलाड़ी बन गए विश्व कप के इतिहास में स्कोरर बनें। 2008 के ओलंपिक में मेस्सी के अर्जेंटीना के लिए खेलने पर प्रतिबंध लगाने के बाद, [104] उन्होंने बार्सिलोना के नए कोच जोसेप गार्डियोला के साथ बातचीत की और बाद में उन्हें खेलने के लिए सहमत हुए।

2008 में रोनाल्डिन्हो के क्लब छोड़ने के बाद उनकी 10 नंबर की जर्सी मेसी को मिली। 2009 विश्व कप क्वालीफायर में वेनेजुएला के खिलाफ, मेस्सी ने पहली बार अर्जेंटीना के लिए 10 नंबर की जर्सी पहनी थी। लियोनेल मेस्सी के शुरुआती गोल ने अर्जेंटीना को 4-0 से गेम जीतने में मदद की।

2010 के लीग खेलों में मेस्सी ने लगातार हैट्रिक बनाई। 2011/12 सीज़न में, उन्होंने बार्सिलोना में दूसरे सबसे अधिक गोल करने वाले खिलाड़ी बनने के लिए 132 गोल किए। इसके बाद वह यूईएफए चैंपियंस लीग खेल में पांच गोल करने वाले पहले खिलाड़ी बने। उन्होंने 2013 लीग में प्रत्येक टीम के खिलाफ स्कोर करके एक और रिकॉर्ड बनाया। मेस्सी 2014 में खेल में आए और सेविला के खिलाफ हैट्रिक बनाई। 2015 में, बार्सिलोना ने लीग में 122 गोल किए, जिसमें मेस्सी ने 58 गोल किए।

2015-16 एउन्होंने इस सीजन में 41 गोल किए। उनका यह दमदार प्रदर्शन 2017-18 में भी जारी रखा है. मेसी ने 2018 में 38 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ते हुए नया रिकॉर्ड बनाया है। वह यूरोप में शीर्ष पांच लीग में एक ही क्लब से सबसे अधिक गोल करने वाले खिलाड़ी भी रहे हैं।

बाद में उन्हें एंटोनेला रोकुज़ो से प्यार हो गया और लंबे प्रेम संबंध के बाद जून 2017 में उन्होंने शादी कर ली। उनके थियागो और मातेओ नाम के दो बच्चे हैं।

सफलता

लियोनमेसी अपने खेल से पूरी दुनिया में मशहूर हैं। उन्हें वरिष्ठ फुटबॉलरों द्वारा ‘रत्न’ के रूप में सम्मानित किया गया है। 2016 में खेल से संन्यास की घोषणा करते हुए दर्शकों के प्यार के कारण उन्हें खेल में वापसी के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने 2010, 2012, 2013, 2017, 2019 फीफा वर्ल्ड प्लेयर ऑफ द ईयर 2009, फीफा वर्ल्ड कप गोल्डन बॉल 2014 में गोल्डन शूज़ सहित कई प्रतिष्ठित पुरस्कार जीते हैं।

सामाजिक कार्यों में भी सक्रिय मेसी ने 2007 में लियो मेसी फाउंडेशन की स्थापना की थी और विशेष रूप से बच्चों के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। उन्होंने बच्चों की शिक्षा, बच्चों के अस्पताल के निर्माण और बच्चों के आश्रय गृह के लिए विशेष सहायता प्रदान भी किया हैँ।

अगर इंसान हमेशा विजयी होता तो उसकी मंजिल भी जीत मेँ ही समापन होता। क्योंकि, कोई उत्साह नहीं था और उसने आगे बढ़ने की कोशिश करना भी जरूरी नहीं समझा। जैसा कि मेसी ने कहा, “मैं हमेशा के लिए नहीं जीत सकता।” अगर हमेशा जीत हासिल करनी है, तो मेसी को क्यों खेलते रहना चाहिए? जैसे ही उसने पहली हैट्रिक बनाई, उसे स्वतः ही फुटबॉल के प्रत्येक खेल का विजेता घोषित कर दिया जाएगा। जीवन के हर खेल को जीतने के लिए खेलो, लेकिन हारने के लिए भी तैयार रहना चाहिए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here